Welcome | सुस्वागतम्

संस्थान का मुख्य ध्येय राज्य स्तर पर समाज के स्वाभिमान की रक्षा व समाज को सुसंगठित, सुदृढ़ एवं सुसंस्कारित बनाने की ओर अग्रसर रहना | समाज की संस्कृति, जीवन मूल्यों और गौरवपूर्ण ऐतिहासिक परम्पराओं का संरक्षण, विकास हेतु सामाजिक एकता सम्मेलन, दीपावली स्नेहभोज, महापुरुषों की जयंतियां मनाना तथा समाज की विभिन्न क्षेत्रों की विशिष्ट प्रतिभाओं का सम्मान समारोहों के माध्यम से पुरुस्कृत व सम्मानित करना | इसके लिए संस्था को एक त्रिकोणीय व्यवस्था का सिस्टम अपनाना पड़ता है जिसमें सर्वप्रथम प्रतिभाओं की निष्पक्ष खोज समाचार पत्रों में विज्ञापन देकर की जाती है | खोज के बाद प्रतिभाओं को आमंत्रित कर समाज की विशिष्ट विभूतियों के कर कमलों से सम्मानित व पुरुस्कृत किया जाता है जो भी समाज के अग्रणी व आर्थिक रूप से धनाढ्य दानवीरों के सहयोग से ही सम्भव हो पाता है | इस कोष में समाज के दानवीरों ने सावधि रूप से राशियाँ प्रदान की हुई हैं जिसके वार्षिक ब्याज से आर्थिक रूप से कमजोर प्रतिभाओं को विभिन्न लिखित प्रतियोगी परीक्षा हेतु कोचिंग एवं इनमें उत्तीर्ण प्रतिभाओं को साक्षात्कार हेतु कॉन्सलिंग अजमेर में प्रदान की जाती है | इसके लिए संस्था द्वारा एक छात्रवृति कोष योजना चलायी जा रही है |

 

हम कौन थे ? क्या हो गए हैं ? क्या होंगे अभी , आओ विचारें मिल सभी …